मेरा पहला ग्रूप सेक्स


हेलो दोस्तो मैं चुडकड़ ऱितु आपको अपनी पहली कहानी मे आप का बहोत बहोत सावगत करती हूँ. मुझे उमीद है आप को आज मेरी ये पहली कहानी पसंद आएगी. ये कहानी मेरे पहले ग्रूप सेक्स की है. तो मैं अब ज़्यादा बकवास ना करते हुए सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ.

बात उन दीनो की जब मैं कॉलेज मे पढ़ती थी. मैं कॉलेज के पी.जी मे ही रहती थी. इस लिए मुझे रोकने टोकने वाला कोई नही था. मैं एक नंबर की बिंदास और मस्त हुआ करती थी उस टाइम. मैं गंदी-गंदी मा बहेन की गालिया भी निकालती थी.

मुझे पूरा कॉलेज बहोत अच्छे से जानता था. मेरा वाहा पर एक बॉयफ्रेंड था उसका नाम राज था. वो भी मेरी तरह काफ़ी मस्त और बिंदास था. इसलिए मैने उससे फ्रेंडशिप कर ली. मैं जवान तो हो ही गई थी. इस लिए मुझे लंड भी चाहिए था.

जो मुझे राज ने दिया. उसके 8 इंच के लंड ने मेरी चूत की प्यास काफ़ी अच्छे से बुझा दी थी. मैं अब तक काफ़ी बार राज से चुद चुकी थी. मैने राज का लंड काफ़ी बार चूसा था. मुझे राज का लंड सच मे बहोत अच्छा लगता था. राज के पास सफ़ारी कार थी. जिसमे मैं उसके साथ घूमने और कॉलेज आती जाती थी.

राज के साथ उसके 3 और दोस्त थे. कमल, विजय और सोनू. तीनो के तीन काफ़ी मजबूत और अच्छी बॉडी के थे. राज भी काफ़ी हैंडसम और अच्छी बॉडी का मालिक था. मैं हमेशा उसकी मजबूत छाती से अपना सिर लगा कर रखती थी. कॉलेज के बाद हम सब राज की सफ़ारी मे घूमने जाते थे. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

हम सब काफ़ी मस्ती करते थे. हम सब बियर ड्रिंक चिकन सब कुछ खाते पीते थे. राज और मैं उसके 3 दोस्तो के साथ काफ़ी ज़्यादा ओपन थे. हम दोनो उनके सामने ही किस करते थे रहते थे. और राज मेरे बूब्स भी दबा देता था. और चलते चलते मेरी गांड पर थप्पड़ मार देता था.

तभी अचानक कमल का ब्रेकप हो गया. वो काफ़ी उदास रहने लग गया. और देखते ही देखते सोनू और विजय का भी ब्रेकप हो गया. वो तीनो अब बिना लड़की के रहने लग गये. ऐसे ही 1 महीना निकल गया था. और राज और मुझे भी सेक्स किए हुए 4 महीने हो गये थे. मेरी चूत अब लंड माँग रही थी. मेरी चूत मे आग लग रही थी उसे अब लंड चाहिए था. पर राज अब अपने दोस्तो के साथ बिज़ी रहता था.

मेरी चूत लंड के लिए तड़प रही थी. तभी मेरे पास राज का फोन आया और उसने मुझे कहा की मैं जल्दी से पैकिंग कर लूं. हम 4 दीनो के लिए घूमने जा रहे है उसके शिमला वाले घर पर. वाहा पर कोई भी नही रहता है. मैने जल्दी से सारी पैकिंग करी. और फिर कुछ ही देर मे राज की कार आ गई.

मैं कार मे बैठ गई. राज ने मुझे अंदर खींच लिया और मुझे अपनी गोद मे बिठा लिया. और मुझे किस करने लग गया. उसके दोनो हाथ मेरे बूब्स और मेरी गांड मसल रहे थे. तभी पीछे बैठा कमल बोला वा आज तो गुलाबी गांड वाली गुलाबी पैंटी पहेन कर आई है.


Online porn video at mobile phone


antarvasna hindi storyindian sex in parkantarvasna naukarantarvasna appantarvasna marathi kathafree sex hindiantarvasna free hindiiss sex storieschodnawww. antarvasna. comantarvasna com kahaniantarvasna website paged 2romantic sex storiesmarathi sex kathahindi sex storyshindi hot storyauntie sexkavya sexhindi gay kahanikahani sexnew sex storiesnew antarvasna in hindimastaram.netantarvasna chutkulechudai hindiantarvasna in hindi 2016www. antarvasna. combalatkar antarvasnaantarvasna hindimother sex storiesantarvasnaantarvasna comantrawasnamom sex storyxxx stories in hindivelamma sex storiesantarvasna antarvasnakamaveri storyantarvasna love storysex with gfsex with familyantarvasna pdfdesi hindi sexbhabhi ko chodasex stories in hindireal antarvasnaantarvasna old storyantarvasna samuhik chudaisex story antarvasnasexstoriesantarvasna new hindiantavasnaantarvasna sex storysex with auntiesporn with storykamukta storiesantrvashnahindi long sex storiesantarvasna desihindisex storieshttps antarvasnameri antarvasnaantarvasna hindi 2016new hindi sex storyantarvasna 2013sex storysantarvasna hindi sexscooptimessex auntysrape sex storieshindi sex storeantarvasna hindi storiesantarvasna downloadnew punjabi sexdesi kahaniyasisterxxxdaughtersexhindi chudaichudai ki storyantarvasna latest hindi stories???sexy reshmaantravasanadesi sex storiesgujarathi sexsex with mamichachi ki chudai???real sex storyma ki chudaiantarvasna hindi sexi storieschut antarvasnachudai ki kahanichudai sexantarvasna ki photoantarvasna sexy kahanidedi sexhindisex storysex store